You are here
Home > देश > तसलीमा नसरीन ने किया ट्वीट, रेप से बेहतर है बस में मर्दों का हस्तमैथुन करना!

तसलीमा नसरीन ने किया ट्वीट, रेप से बेहतर है बस में मर्दों का हस्तमैथुन करना!

तसलीमा नसरीन

तसलीमा नसरीन ने किया ट्वीट, रेप से बेहतर है बस में मर्दों का हस्तमैथुन करना! दिल्ली में बस में हस्तमैथुन वाले मामले पर जानी-मानी लेखक तसलीमा नसरीन ने लिखा कि इसे बहुत बड़ा अपराध नहीं माना जाना चाहिए। तसलीमा के इस ट्वीट से ज्यादातर लोग सहमत नहीं दिखे। सोमवार को किए गए ट्वीट में तसलीमा ने लिखा, ‘दिल्ली में भीड़ से भरी बस में एक शख्स हस्तमैथुन कर रहा था। रेप कल्चर में इसे बहुत बड़ा अपराध नहीं माना जाना चाहिए। पुरुषों को चाहिए कि वे रेप या मर्डर करने की जगह हस्तमैथुन ही कर लें। क्या सार्वजनिक स्थल पर हस्तमैथुन करना अपराध है? असल में यह ऐसा अपराध है जिसमें कोई पीड़ित नहीं होता।’

इसे भी पढ़िए:   भाभी को हो गया देवर से प्यार फिर बड़े भाई ने जो किया वो सुनकर चौंक जाएंगे!

क्या है मामला

दिल्ली में चलती बस में एक शख्स डीयू स्टूडेंट के बगल में बैठकर हस्तमैथुन कर रहा था। उस लड़की ने बिना डरे विडियो बनाया और पुलिस तक गई। स्टूडेंट ने बताया, ‘मैं सन्न रह गई, वह बार-बार मुझे छू भी रहा था…, मैंने जब लोगों को बताया तो उन्होंने इग्नोर किया, कोई मदद के लिए आगे नहीं आया।’ ‘मैंने उस आदमी पर चिल्लाकर भी बोला मगर वह मेरी बातों को अनसुना कर रहा था।’

इसे भी पढ़िए:   नाबालिग लड़के की शादी 8 साल बड़ी विधवा भाभी से करवा दी, नाबालिग ने लगाई फांसी

तस्लीमा नसरीन के ट्वीट पर एक ने लिखा, ‘हम मॉर्डन हो रहे हैं इसका मतलब यह नहीं कि बेशर्म हो जाएं। हस्तमैथुन, शारीरिक संबंध या शौच सार्वजनिक स्थल पर ठीक नहीं।’ बाकी कई लोगों ने भी इससे मिलते-जुलते ट्वीट किए। एक अन्य यूजर ने बताया कि यह क्राइम है क्योंकि ऐसी हरकत को अनजाने में देख लेने वाला लंबे वक्त तक सदमे में रहता है। उन्होंने अपनी एक रिश्तेदार का उदाहरण देते हुए यह बात कही।

इसे भी पढ़िए:   वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध करने पर अपने ही समुदाय के तीन लोगों को पीटा

इसके बाद तसलीमा ने मंगलवार को एक और ट्वीट किया। इसमें लिखा था, ‘बस, ट्रेन, गली, भीड़भाड़ वाली जगह, सुनसान जगह, रात, दिन, स्कूल, ऑफिस यहां तक की घर भी महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है। इस सबका कारण पुरुष हैं, उन्हें स्त्री जाति से अपनी नफरत कम करनी चाहिए ताकी आधी आबादी आराम से रह सके।’ फिलहाल यह साफ नहीं है कि पहले ट्वीट में तसलीमा ने अपने विचार लिखे या वह किसी तरह का व्यंग कर रही थीं।

Top