You are here
Home > अपराध > सोनू पंजाबन | सेक्स रैकेट चलाने में गिरफ्तार | जानिए सोनू पंजाबन की पूरी कहानी

सोनू पंजाबन | सेक्स रैकेट चलाने में गिरफ्तार | जानिए सोनू पंजाबन की पूरी कहानी

सोनू पंजाबन

सोनू पंजाबन का नाम ज्यादातर लोगों को पता है। दिल्ली एनसीआर में हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट चलाने वाली सोनू पंजाबन उर्फ गीता अरोड़ा (40) को अपराध शाखा के साइबर सेल ने फिर से गिरफ्तार किया है। सोनू पंजाबन पर 16 साल की किशोरी को कई लोगों को बेचने और वेश्यावृत्ति कराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मकोका में आरोपी रही सोनू पंजाबन अक्तूबर 2014 में तिहाड़ जेल से छूटी थी। सोनू के साथ जिन पांच लड़कियों को गिरफ्तार किया गया है, उनकी आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है और पुलिस अधिकारी बताते हैं कि कुछ टेलीविजन स्टार भी सोनू के संपर्क में थीं।

इसे भी पढ़िए:   नाबालिग लड़की को अगवा कर उसके जिस्म को नोचा तीन दरिंदों ने!

दिल्ली की लेडी डॉन कही जाने वाली और सेक्स रैकेट संचालिका सोनू पंजाबन को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने इस बार उसे 16 साल की बच्ची से देह व्यापार का धंधा कराने के आरोप में गिरफ्तार किया है। सोनू पंजाबन मकोका में आरोपी रही थी और अक्तूबर 2014 में तिहाड़ जेल से छूटी थी। जेल से छूटने के बाद उसने दोबारा अपना नेटवर्क सेट कर धंधा शुरू कर दिया था। गिरफ्तारी के वक्त सोनू ने कमला मार्केट थाने में खूब हंगामा किया।

इसे भी पढ़िए:   नाबालिग के साथ दुराचार पर कोर्ट का फैसला, आरोपी को फांसी

जानिए पूरा मामला

क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक, अगस्त 2014 में 16 साल की नाबालिग अपने घर के पास से रहस्यमय हालात में गायब हो गई थी। परिजनों ने नजफगढ़ थाना पुलिस में अपहरण का मामला दर्ज कराया, जिसके बाद पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी। लड़की का पता न चल पाने पर केस 2017 के शुरुआती महीनों में क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया। पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस के जरिए लड़की की तलाश की लेकिन वो नाकाम रही। जून 2017 में लड़की अचानक घर लौट आई। लड़की ने घर आने के बाद जो खुलासे किए उससे परिवार के होश उड़ गए।

इसे भी पढ़िए:   जेठ और उसके दोस्त ने किया बहू का सामूहिक रेप, मामला दर्ज

पीड़िता की आपबीती

पीड़िता ने बताया कि घर के पास से ही 2 युवकों ने उसे अगवा कर लिया था। इसके बाद उसे सोनू पंजाबन नामक महिला के सामने पेश किया गया। सोनू ने बहुत समय तक उसे बंधक बनाकर उससे वेश्यावृत्ति कराई और बाद में लखनऊ के एक दलाल को बेच दिया। इस दौरान जब किशोरी गर्भवती हुई तो उसे अबार्शन कराने के लिए कहा गया। इसके बाद किशोरी मौका देखकर वहां से किसी तरह भागकर अपने घर पहुंच गई। सूचना पुलिस को मिलने पर पुलिस ने सोनू पंजाबन की तलाश शुरू कर दी।

इसे भी पढ़िए:   जीजा के साथ खेत में सेक्स कर रही थी साली, जीजा को पीटकर 6 लोगों ने किया गैंगरेप

सोनू पंजाबन पर कितने हैं आरोप?

सोनू पंजाबन उर्फ गीता अरोडा पर एक नाबालिग से वेश्यावृत्ति कराने और खरीद-फरोख्त का आरोप है। उस पर आईपीसी की धारा 363, 366, 342, 370, 370A, 372, 373, 376, 34, 120B और पॉक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज है। 2009 में गीता कॉलोनी की ही रहने वाली 16 साल की किशोरी को सोनू देह व्यापार के धंधे में ले आई थी। कुछ समय तक उससे वेश्यावृत्ति कराने के बाद उसे लखनऊ में बेच दिया था। वहां बलात्कार करने के बाद दलाल ने किशोरी को दिल्ली के तिलकनगर में अन्य दलाल को बेच दिया था। अपराध शाखा के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अगस्त 2014 में 16 वर्षीय किशोरी घर के पास से रहस्यमय हालात में गायब हो गई थी। परिजनों की सूचना पर नजफगढ़ थाना पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की। किशोरी का पता न चलने पर तफ्तीश 2017 के शुरुआती माह में अपराध शाखा को सौंप दी गई थी।

इसे भी पढ़िए:   पढ़ाने के बहाने छात्रा का करता रेप, छात्रा के गर्भवती होने पर खुला राज़

कैसे जिस्म बेच कर उसने जमाया कारोबार?

दिल्ली समेत कई अन्य राज्यों में सेक्स रैकेट का धंधा चलाने वाली सोनू पंजाबन का नाम क्राइम की दुनिया में काफी जाना पहचाना है। हाल ही में सोनू पंजाबन को क्राइम ब्रांच की साइबर सेल ने गिरफ्तार किया है। उस पर सेक्स रैकेट समेट कई संगीन मामले दर्ज है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि सोनू पंजाबन का असली नाम गीता अरोड़ा है। एक जमाने में गीता खुद एक कॉल गर्ल थी। गीता अरोड़ा उस वक्त सुर्खियों में आई थी जब एक बड़े व्यापारी की लाश उसकी गाड़ी में बरामद हुई।लेकिन उस वक्त पुलिस की जांच में गीता बचकर निकल गई इसके बाद उसकी मुलाकात विजय नाम के एक शख्स से हो  गई। दोनों ने शादी की लेकिन कुछ दिनों बाद विजय यूपी पुलिस के हाथों मारा गया। इसके बाद गीता की दोस्ती दीपक नाम के शख्स से हुई पुलिस एनकाउंटर में वो भी मारा गया लेकिन दीपक के भाई के साथ मिलकर गीता जिस्म के कारोबार की सीढ़ियां चढ़ती चली गई और गीता से सोनू पंजाबन बन गई।

इसे भी पढ़िए:   तांत्रिक ने महिला से कहा मेरे साथ सेक्स करने से होगा बेटा और कर दिया रेप!

धीरे -धीरे सेक्स रैकेट के कारोबार से सोनू पंजाबन करोड़ों की संपत्ति की मालकिन बन गई। किसी वक्त ठोकरें खाने को मजबूर पंजाबन ने देखते ही देखते कई फ्लैट खरीद लिए। बाद में सोनू पंजाबन ने दिल्ली के सभी दलालों से हाथ मिलाना शुरु कर दिया। जिसने सोनू का साथ देने से मना किया वो दुबारा कभी सुबह का सूरज नहीं देख पाया देखते ही देखते सोनू का सेक्स रेकेट कारपोरेट में बदल गया। उसने लड़कियों को फिक्स सैलेरी पर रखा। वो ग्राहक के पैसे में से लड़कियों को पैसे नहीं देती थी। धीरे-धीरे सोनू दलालों की मालकिन बन गई। अलग-अलग इलाकों में फैले हुए दलाल उसके संरक्षण में काम करते हैं। सोनू इन दलालों का इलाका भी तय करती है और मोटे पैसे भी वसूलती है।

इसे भी पढ़िए:   महिला मर चुकी थी लेकिन वो हैवान उसकी लाश के साथ रेप कर रहा था!
सोनू पंजाबन का पहला केस

सोनू पंजाबन के खिलाफ साल 2011 में दिल्ली के महरौली, साल 2008 में प्रीत विहार और 2005 में हरियाणा के बहादुरगढ़ में केस दर्ज कराया गया था। इससे पहले भी सोनू पंजाबन कई बार गिरफ्तार हो चुकी है। उसके नाम सबसे ज्यादा सुर्खियों में तब आया था, जब इच्छाधारी बाबा भीमानंद के सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ था। फर्राटेदार अंग्रेजी और तन पर सजे महंगे कपड़े पहने सोनू पंजाबन को जो देखता है, देखता ही रह जाता है। छरहरा बदन, तीखे नैन नक्श, गोरा रंग, कद 5 फुट 4 इंच और बेबाक तेवरों से वह कॉलेज जाने वाली किसी लड़की जैसी ही दिखती है। लेकिन इस हसीन चेहरे के पीछे की सचाई कुछ और ही है। कोई इसे विषकन्या कहता है तो कोई शहजादी।

इसे भी पढ़िए:   प्रेमिका के साथ सेक्स करके बनाया अश्लील वीडियो, अपलोड कर दिया साइट्स पर

कोई कहता है जो इसके प्रेम में फंसा वो जिंदा नहीं बचा। दिल्ली के तकरीबन 1000 करोड़ रुपये के जिस्मफरोशी के कारोबार की यह शहजादी कोई और नहीं, यहां की सबसे बड़ी दलाल 30 वर्षीय गीता अरोड़ा उर्फ सोनू पंजाबन ही है। बात साल 2011 की है। क्रिकेट विश्व कप फाइनल से एक दिन पहले की, जब भारत को लेकर रोमांच चरम पर था। फार्म हाउसों और होटलों में क्रिकेट से जुड़ी पार्टियों के कारण शहर में जिस्मफरोश लड़कियों की आवक एकदम बढ़ गई थी। बस, इसी का फायदा उठाने के लिए कुछ लोग रात के अंधेरे में अपने काले धंधे को अंजाम देने में लगे थे। उस वक्त लंबे समय से जिस्मफरोशी के धंधे का पर्याय बन चुकी शातिर सोनू पुलिस के बिछाए जाल में फंस गई थी।

इसे भी पढ़िए:   देवर ने भाभी के आशिक को मारी गोली, फिर करंट लगाकर मार डाला
सोनू पंजाबन ने जिससे भी इश्क किया वो मारा गया

सोनू के ग्राहकों में उद्योगपतियों और वीआइपी से लेकर कई बड़े नाम शामिल थे। वह खुद कभी सामने नहीं आती थी। रोहतक की रहने वाली सोनू पंजाबन का अपराध के साथ रिश्ता काफी पुराना है। सोनू का नाम आठ साल पहले एक हत्या के सिलसिले में पहली बार सामने आया था। इसे इत्तेफाक कहें या कुछ और, जो भी सोनू का हमदम बना, उसका जीवन सफर ज्‍यादा लंबा नहीं चल सका। सोनू ने रोहतक के नामी गैंगस्टर विजय सिंह से लव मैरिज किया था। पूर्वांचल के कुख्यात बदमाश श्रीप्रकाश शुक्ला गिरोह के विजय सिंह को उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स ने गढ़ मुक्तेश्वर में मार गिराया था। इस सदमे से उबरने के दौरान सोनू के पास नजफगढ़ के दीपक का आनाजाना हुआ। फिर दोनों में दोस्ती हुई। लेकिन साल 2003 में गाड़ी चोर दीपक भी असम में पुलिस के हाथों मुठभेड़ में मार दिया गया।

इसे भी पढ़िए:   पति ने नशीला पदार्थ खिलाकर पत्नी के साथ बनाए अप्राकृतिक संबंध, दहेज का मामला

आसरे की चाहत में सोनू ने दीपक के भाई हेमंत सोनू से विवाह रचा लिया। हेमंत गीता को दिल्ली ले आया। उसने हेमंत के रसूख और संबंधों का प्रयोग अपने जिस्मफरोशी के कारोबार को बढ़ाने के लिए किया। हेमंत के नाम पर ही गीता का नाम सोनू पड़ गया। लेकिन मार्च 2006 में गुड़गांव में पुलिस ने हेमंत को मुठभेड़ में मार गिराया। इसके बाद सोनू ने अशोक बंटी नाम के बदमाश के पास पनाह पाई, लेकिन बंटी भी अप्रैल 2006 में दिलशाद गार्डन में पुलिस के हाथों मारा गया। इस सारे घटनाक्रम के दौरान सोनू अपराध की दुनिया से अच्छे से रूबरू हो चुकी थी। उसके संपर्क भी मजबूत हो गए थे। ब्यूटी पार्लर की आड़ में उसने चमड़ी की धंधा शुरू किया, जो आज भी जारी है।

इसे भी पढ़िए:   प्रेमिका के साथ सेक्स करके बनाया अश्लील वीडियो, अपलोड कर दिया साइट्स पर
सोनू पंजाबन और जिस्म के बाज़ार में गैंगवार

दिल्ली की जिस्मफरोशी के बाजार में एक बार फिर गर्माहट थी। गर्माहट धंधे के उतार-चढ़ाव को लेकर नहीं बल्कि धंधे पर कब्जे को लेकर थी। जिस्मफरोशी के बाजार पर कब्जे को लेकर पैदा हुई इस तकरार में एक छोर पर कुख्यात आरोपी रही सोनू पंजाबन थी तो दूसरी तरफ इसी धंधे में जुटे उसके कथित दुश्मन। राहुल कपूर, जो कभी जिस्मफरोशी के धंधे के सरताज कहे जाने वाले कंवलजीत का पार्टनर था। इसी कारोबारी रंजिश में उसने सोनू पंजाबन को गिरफ्तार कराया था। इस शख्स का आरोप था कि सोनू पंजाबन उसकी हत्या कराना चाहती है। राहुल ने दिल्ली पुलिस में शिकायत की कि सोनू पंजाबन उसकी हत्या कराना चाहती थी। सोनू पंजाबन दिल्ली में जिस्मफरोशी का रैकेट चलाती है।

इसे भी पढ़िए:   महिला मर चुकी थी लेकिन वो हैवान उसकी लाश के साथ रेप कर रहा था!

सोनू पंजाबन के किरदार पर फुकरे जैसी फिल्म तक बनी थी। सोनू पंजाबन को 4 साल पहले दिल्ली पुलिस ने कई साथियों के साथ गिरफ्तार किया था। तब सोनू पंजाबन पर महाराष्ट्र क्राइम कंट्रोल एक्ट यानी मकोका जैसे कड़े कानून के तहत भी मामला दर्ज किया गया था। राहुल का दावा था कि सोनू को उसी ने गिरफ्तार करवाया था और अब जेल से बाहर आने के बाद सोनू पंजाबन उससे बदला लेना चाहती थी। दरअसल, ये सारा मामला दिल्ली के जिस्मफरोशी के बाजार से जुड़ा हुआ था। आपको बता दें कि सोनू पंजाबन उर्फ गीता अरोड़ा पर एक समय दिल्ली के सेक्स रैकेट की क्वीन बनने के लिए आपराधिक साधनों का सहारा लेने का आरोप लगा था।

इसे भी पढ़िए:   नाबालिग के साथ दुराचार पर कोर्ट का फैसला, आरोपी को फांसी

साल 2015 में उजबेकिस्तान की बैले डांसर की हत्या हुई थी। बैले डांसर की हत्या में गगनदीप का नाम आया था और गगनदीप को सोनू पंजाबन का साथी कहा गया था। चर्चा थी कि गगनदीप विदेशी लड़कियों के साथ दिल्ली के सेक्स रैकेट पर कब्जा जमाना चाहता था इसलिए सोनू पंजाबन ने उसे जाल में फंसा दिया। 2011 में जब साउथ दिल्ली पुलिस ने सोनू पंजाबन को गिरफ्तार किया तो उस पर कई गंभीर आरोप लगे थे। कहा गया था कि सोनू लड़कियों को जबरदस्ती जिस्मफरोशी में धकेल रही थी। राहुल भी इस धंधे का मंझा हुआ खिलाड़ी है।

इसे भी पढ़िए:   नाबालिग लड़की को अगवा कर उसके जिस्म को नोचा तीन दरिंदों ने!

कभी देह व्यापार के बाजार का बादशाह कहे जाने वाले कंवलजीत के साथी राहुल के मुताबिक सोनू चाहती थी कि वो उसके साथ मिलकर काम करे। जिसके लिए राहुल तैयार नहीं था। राहुल के मुताबिक मना करने पर सोनू उसे धमकी देती थी। इसी से तंग आकर उसने 2011 में सोनू पंजाबन को गिरफ्तार करवा दिया। राहुल के मुताबिक जेल से बाहर आने के बाद सोनू पंजाबन फिर उस पर साथ मिलकर काम करने का दबाव डाल रही थी। ऐसा नहीं करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही थी।

इसे भी पढ़िए:   जीजा के साथ खेत में सेक्स कर रही थी साली, जीजा को पीटकर 6 लोगों ने किया गैंगरेप
सोनू पंजाबन का आपराधिक इतिहास

सोनू पंजाबन का आपराधिक अतीत रहा है। 2012 में पुलिस ने सोनू पंजाबन के भाई दीपक अरोड़ा सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया था। सभी को एक व्यवसायी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। सोनू पंजाबन पर जेल में रहकर कारोबारी की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगा हालांकि सोनू पंजाबन इन तमाम आरोपों से इंकार कर दिया था।

Top