You are here
Home > देश > लड़कियां इस इलाके में ये काम नहीं कर सकती, अगर किया तो मिलती है सज़ा

लड़कियां इस इलाके में ये काम नहीं कर सकती, अगर किया तो मिलती है सज़ा

लड़कियां

लड़कियां इस इलाके में ये काम नहीं कर सकती, अगर किया तो मिलती है सज़ा । मध्यप्रदेश के गुना जिले में लड़कियों के लिए एक ऐसा फरमान आया है। जिसे सुनकर आप चौंक जाएंगे। मामला गुना जिले के सहरिया आदिवासी समाज का है। सबसे बड़ी बात कि ये फरमान सहरिया आदिवासी समाज के बुजुर्गों व महिलाओं ने सुनाया है। इस पर समाज के सभी लोगों ने सहमति जताई है।

अब कोई भी युवा महिला या लड़की दूसरे समाज के पुरुष के साथ बातचीत नहीं कर सकेगी। अगर उसने ऐसा किया तो उस महिला को समाज से निकाल दिया जाएगा। इतना ही नहीं, समाज की कोई भी महिला अपने पास मोबाइल फोन नहीं रखेंगी। खासकर कुंवारी लड़कियां तो बिलकुल भी मोबाइल नहीं रख सकेंगी। ये फरमान गुना जिले में गुना में मंगलवार को राजस्थान बार्डर से लगे मप्र के आखिरी गांव डेहरा में निवास करने वाले आदिवासी समाज ने यह निर्णय लिया गया है।

इस समाज के लोगों को लगता है कि लड़कियां अपने मोबाइल फोन से लड़कों से अश्लील बातें करती हैं। लिहाजा उनसे मोबाइल फोन ले लिया जाए जिससे लड़कियां मोबाइल पर अश्लील बातें न कर सकें। क्योंकि इस तरह की शिकायतें आती रही हैं। समाज की महिलाएं यदि कहीं मजदूरी करने भी जाती हैं तो महिलाएं कम से कम पांच महिलाओं के समूह में ही मजदूरी करने जाएंगी, ताकि आदिवासी महिलाओं का कोई शोषण न करने पाए। आम तौर पर महिलाओं दबंग और रसूखदार लोगों के जहां पर कई बार अकेली भी मजदूरी करने चली जाती थी, जिससे बाद में उनके शोषण की शिकायतें सामने आती थी।

अब पंचों ने फैसला सुनाया है कि अगर कोई महिला अकेले काम पर जाती है तो उसे दंडित किया जाएगा या उसे समाज से बाहर कर दिया जाएगा। जाहिर है कि इस इलाके में सबसे बड़ा मुद्दा महिलाओं की सुरक्षा का है। कहीं ना कहीं इसके लिए प्रशासन का ढ़ीला रवैया भी इसका ज़िम्मेदार है।

इसे भी पढ़िए:   प्रेम के लिए खुद की जान देने की कोशिश की 17 साल की लड़की ने!
Top