You are here
Home > लाइफस्टाइल > सेक्स के वक्त महिलाओं के ब्रेस्ट बड़ा हो जाता है! कारण है उत्तेजना

सेक्स के वक्त महिलाओं के ब्रेस्ट बड़ा हो जाता है! कारण है उत्तेजना

सेक्स

सेक्स के वक्त महिलाओं के ब्रेस्ट बड़ा हो जाता है! कारण है उत्तेजना, जब बात सेक्स की आती है तो आप भले ही दावा करें कि आप इसके बारे में सबकुछ जानते हैं लेकिन यह हकीकत नहीं है क्योंकि जिस दिन आप सेक्स के बारे में सबकुछ जान लेंगे उस दिन से आपकी सेक्स लाइफ नीरस और बोरिंग हो जाएगी।

इसे भी पढ़िए:   मास्टरबेशन का सही तरीका आपको देगा ऐसा चरम सुख की सबकुछ भूल जाएंगी

इंटरकोर्स के दौरान गुप्तांग की तरह ब्रेस्ट में भी सूजन आ जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इंटरकोर्स के दौरान शरीर में ब्लड फ्लो बढ़ जाता है। निप्पल सहलाने से महिलाओं के शरीर में ऑक्सिटॉक्सिन हॉर्मोन रिलीज होने लगता है जिससे वजाइनल कॉन्ट्रैक्शन होता है और ऑर्गज्म महसूस होता है। महिलाओं की ही तरह करीब 60 प्रतिशत पुरुष भी निप्पल सहलाने से उत्तेजित महसूस करने लगते हैं। वर्कआउट के तुरंत बाद पूरे शरीर के साथ ही प्राइवेट पार्ट में भी खून का बहाव तेज हो जाता है जिससे आपकी सेक्शुअल क्रिया कई गुणा बढ़ जाती है और आपका सेक्शुअल अनुभव और आनंददायक हो जाता है।

इसे भी पढ़िए:   महिलाओं को बेड पर चाहिए अनुभवी मर्द जो उन्हें वो सबकुछ दे सके!

जो महिलाएं ज्यादा सेब खाती हैं उनकी कामेच्छा और लुब्रिकेशन बढ़ जाता है जिससे सेक्शुअल क्रिया में बढ़ोतरी होती है। इसके अलावा चॉकलेट्स में भी उत्तेजना बढ़ाने की क्षमता होती है। महिलाओं के प्राइवेट पार्ट में मौजूद क्लिटरिस का मुख्य काम आनंद और संतुष्टि देना है। इसकी वजह से ऑर्गज्म महसूस होता है। यह पुरुषों के प्राइवेट पार्ट की तुलना में ज्यादा सेंसेटिव है क्योंकि क्लिटरिस में करीब 8 हजार नर्व फाइबर्स होते हैं और उस एरिया को उत्तेजित करने से सेक्शुअल प्लेजर बढ़ जाता है।

इसे भी पढ़िए:   हस्तमैथुन महिलाओं के लिए फायदेमंद है, रिसर्च में खुलासा!

जब किसी महिला को ऑर्गज्म महसूस होता है उस वक्त उसके ब्रेन का एक हिस्सा जो बेचैनी, डिप्रेशन और डर के लिए जिम्मेदार होता है वह बंद हो जाता है। इस प्रक्रिया की वजह से ही महिलाएं ऑर्गज्म के बाद पुरुषों की तुलना में ज्यादा स्ट्रेस फ्री महसूस करती हैं। इस दौरान होने वाली शारीरिक क्रिया भी महिलाओं का कोई वश नहीं होता।

इसे भी पढ़िए:   सुहागरात पर इससे आगे बढ़ ही नहीं पाते हैं भारतीय पुरुष, जानिए क्यों?

मेन्स्ट्रूअल साइकल के दौरान जब महिलाएं ओव्यूलेशन फेज में होती हैं उस वक्त उनके व्यभिचार यानी चीटिंग करने की संभावना सबसे ज्यादा होती है। इसके पीछे की वजह यह है कि फर्टाइल फेज में इंसान के अंदर प्रजनन की इच्छा प्रबल हो जाती है। लिहाजा जब महिलाएं ओव्यूलेट करती हैं तो उस वक्त उनके मन में एग्स के फर्टीलाइज होने की इच्छा तीव्र हो जाती है जिस वजह से उनके चीटिंग करने की आशंका बढ़ जाती है।

Top