You are here
Home > दुनिया > अमेरिकी सेना में होने वाले यौन शोषण का मामला गर्माया!

अमेरिकी सेना में होने वाले यौन शोषण का मामला गर्माया!

अमेरिकी सेना

अमेरिकी सेना में होने वाले यौन शोषण का मामला गर्माया! अमेरिकी सेना के कार्यरत और रिटार्यड सैनिकों ने पेंटागन मुख्यालय पर यौन शोषण मामलों को लेकर विरोध दर्ज कराया है। करीब दो दर्जन लोगों में ज्यादातर महिलाएं थी जिन्होंने सेना में होने वाले यौन शोषण के मुद्दे को उठाने की कोशिश की। प्रदर्शन कर रहे लोगों में कोई भी यूनिफॉर्म में नहीं था। ये विरोध प्रदर्शन सोशल मीडिया पर चल रहे मी टू कैंपेन के बीच हो रहा है। अमेरिकी सेना में यौन हिंसा एक बड़ा मुद्दा रहा है और खबरों के मुताबिक, यौन शोषण के आरोपों की संख्या पिछले चार सालों में 20 हजार तक हो सकती है। हालांकि, ज्यादातर पीड़ित शिकायत नहीं करते हैं। कई बार पीड़ितों को सामने आने पर मुश्किलों का सामना भी करना पड़ता है।

इसे भी पढ़िए:   महिला कैदी के साथ सेक्स करके वीडियो बनाता था वकील, हो गया गिरफ्तार!

डेमोक्रेटिक पार्टी के सीनेटर किर्सटन गिलिब्रांड ने एक ऐसे कानून का प्रस्ताव दिया था जिसमें मिलिट्री के लोग आसानी से शिकायत दर्ज करा सके और लंबे समय से चला आ रहा डर खत्म हो। हालांकि, पेंटागन की ओर से बयान जारी कर कहा गया है कि सेना यौन शोषण के मामलों पर गंभीरता से कार्रवाई करती है। सैन्य रिपोर्ट की मानें तो 58 प्रतिशत मामलों में यौन उत्पीड़न की रिपोर्ट करने के लिए पीड़ितों को दोबारा यौन उत्पीड़न का अनुभव करना पड़ा। ग़ौरतलब है कि अमेरिका में महिलाएं बुढ़ापे में बेघर होने से बचने के लिए सेना की नौकरी ज्वाइन करती हैं। लेकिन सेना में बढ़ते यौन उत्पीड़न के मामलों ने महिलाओं के सामने सुरक्षा का सवाल खड़ा कर दिया है।

इसे भी पढ़िए:   प्लेब्वाय मॉडल केरन मैडोगुल का खुलासा, ट्रंप के साथ थे मेरे यौन संबंध!

आपको बता दें कि 2017 में अमेरिका के सुरक्षा विभाग ने इस बात का खुलासा किया था कि अमेरिकी सेना में महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न के मामलों में तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है। साल 2016 में सबसे ज़्यादा यौन उत्पीड़न के मामले दर्ज किए गए। अमेरिकी सेना में महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न का मामला उस वक्त सामने आया जब कुछ नौसैनिक महिलाओं की नंगी तस्वीरें ऑनलाइन साझा कर रहे रहे थे। जिसके बाद इसके खिलाफ जांच के आदेश दिए गए और वरिष्ठ सांसदों ने इसकी निंदा की थी। सालाना सैन्य रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 में 6,172 यौन उत्पीड़न के मामले दर्ज किए गए जबकि 2015 में 6,082 उत्पीड़न के मामले दर्ज किए गए थे। यह 2012 की तुलना में तेज छलांग थी जब 3,604 मामले दर्ज किए गए थे।

Top