You are here
Home > अपराध > स्कूल बस में नाबालिग प्रेमी ने नाबालिग प्रेमिका को बनाया हवस का शिकार!

स्कूल बस में नाबालिग प्रेमी ने नाबालिग प्रेमिका को बनाया हवस का शिकार!

स्कूल बस

स्कूल बस में नाबालिग प्रेमी ने नाबालिग प्रेमिका को बनाया हवस का शिकार! छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक किशोर ने उसके पड़ोस में रहने वाली नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दे डाला। उसने शहर के बाहरी इलाके में खड़ी एक स्कूल बस में ले जाकर लड़की के साथ रेप किया। आरोपी सैर सपाटे के नाम पर लड़की को घुमाने ले गया था। बस में ना तो ड्राइवर था और ना ही कंडक्टर। दोनों ड्यूटी खत्म कर बस को लॉक करने के बाद अपने घर जा चुके थे। लेकिन लड़का बेहद चालाक था। उसे पता था कि लॉक होने के बावजूद एक तार की मदद से कैसे बस के लॉक खोल लिए जाते हैं। दिन ढ़ल चुका था। रात होने को थी।

इसे भी पढ़िए:   भाभी की बहन को हासिल करने के लिए अपनी पत्नी के साथ किया घिनौना काम

लड़की की शिकायत मिलते ही पुलिस ने आरोपी लड़के को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पूछताछ के बाद आरोपी को बाल सम्प्रेक्षण गृह भेज दिया है। उसके खिलाफ धारा 376 के तहत कार्रवाई की गई है। पुलिस ने उस बस को भी जब्त कर लिया है, जिसमे घटना को अंजाम दिया गया था। उधर, स्कूल बस का मालिक इस बात से परेशान है कि उसकी बस पुलिस ने अपने कब्जे में ले ली है। जबकि घटना से उसका दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं है। पुलिस के मुताबिक ड्राइवर ने स्कूल बस को पार्किंग स्थल में ना रखकर सार्वजनिक स्थल पर खड़ा कर रखा था। इसके चलते यह स्कूल बस बलात्कार जैसे संगीन जुर्म में मददगार बन गई।

इसे भी पढ़िए:   पिता करता रहा अपनी ही 15 साल की बेटी से रेप, आखिरकार 7 महीने बाद

मामला जशपुर शहर में रहने वाले एक नाबालिग प्रेमी जोड़े का है। दरअसल 17 वर्षीय लड़के का उसके पड़ोस में रहने वाली 15 साल की लड़की से प्रेम प्रसंग था। जिसके चलते लड़का सैर सपाटे के बहाने उसे अपने साथ शहर के बाहरी इलाके में ले गया। वहां आउटर में एक स्कूल बस खड़ी थी। वह बस पूरी तरह लॉक थी। रात में ही उस लड़के ने स्कूल बस का दरवाजा खोला और अपनी गर्लफ्रेंड के साथ उसमे दाखिल हो गया। कुछ देर तक तो दोनों बात करते रहे फिर उसने लड़की के साथ जोर जबरदस्ती शुरू कर दी। लड़की ने विरोध किया, लेकिन लड़का नहीं माना। उसके चंगुल से छूटने के बाद पीड़ित लड़की सीधे थाने चले गई।

Leave a Reply

Top