You are here
Home > देश > मिडिल फिंगर इमोजी पर वॉट्सऐप को भेजा लीगल नोटिस!

मिडिल फिंगर इमोजी पर वॉट्सऐप को भेजा लीगल नोटिस!

मिडिल फिंगर

मिडिल फिंगर इमोजी पर वॉट्सऐप को भेजा लीगल नोटिस! दिल्ली के एक वकील ने मंगलवार को मोबाइल मेसेजिंग ऐप वॉट्सऐप को लीगल नोटिस भेजा है। इस नोटिस में वॉट्सऐप को 15 दिन के अंदर ‘मिडल फिंगर’ इमोजी हटाने के लिए कहा गया है। दिल्ली कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे हैं गुरमीत सिंह ने कहा, ‘मिडल फिंगर गैरकानूनी ही नहीं है, बल्कि अश्लील इशारा भी है। यह भारत में अपराध है।’ नोटिस में उन्होंने ने कहा ‘मिडल फिंगर दिखाना न सिर्फ अश्लील है, बल्कि बेहद आक्रामक इशारा है। भारतीय दंड संहिता धारा 354 और 509 के अनुसार, महिलाओं को अश्लील, अशिष्ट, आक्रामक इशारे दिखाना एक अपराध है। किसी भी व्यक्ति द्वारा एक अश्लील, आक्रामक, अश्लील इशारे का उपयोग करना पूरी तरह से अवैध है।’

इसे भी पढ़िए:   सेक्स की भूख मर्दों में बढ़ती जा रही है, इसीलिए हो रहे हैं यौन अपराध

उन्होंने कहा वॉट्सऐप में इस तरह की मिडल फिंगर इमोजी का इस्तेमाल करना महिलाओं के प्रति अपराध को भी बढ़ावा देना है। इमोजी एक डिजिटल तस्वीर होती है जिससे आप अपना आइडिया और इमोशन बयां करते हैं।’ पश्चिमी देशों में जब किसी को नीचा दिखाना होता है तब मिडिल फिंगर दिखाई जाती है। खासतौर से ये प्रचलन अमेरिका में अधिक है। इसका मतलब होता है कि सामने वाला कुछ भी करे लेकिन उंगली दिखाने वाले के सामने नहीं टिक पाएगा। इसके अलावा कई देशों में मिडिल फिंगर दिखाने का मतलब होता है विपक्षी को बेशर्म और बेगैरत साबित करना। जबकि आपको बता दें कि भारत में इसका मतलब सेक्स से जोड़ कर देखा जाता है। जाहिर है इसी तर्क के आधार पर कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है।

इसे भी पढ़िए:   5 लड़कियों से दिल्ली में रोज़ होता है बलात्कार, दिल्ली पुलिस के आंकड़े

आपको बता दें अब अमेरिकी कानून के मुताबिक भी मिडिल फिंगर दिखाना एक जुर्म है। इसे दुष्कर्म से जोड़ कर देखा जाता है। खासतौर से आप पुलिस को तो मिडिल फिंगर बिल्कुल भी नहीं दिखा सकते। इसका मतलब शुरुआती दौर में कुछ और था लेकिन अब ये बेहद अश्लील हो गया है। यही वजह है कि लोग इस इमोजी से नाराज़ हो जाते हैं। ऐसा नहीं है कि सिर्फ व्हाट्सअप में ही ये इमोजी है। दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी ये इमोजी धड़ल्ले से इस्तेमाल होता है।

Leave a Reply

Top