You are here
Home > लाइफस्टाइल > Masturbation side effects | मास्टरबेशन के Alarming 4 वार

Masturbation side effects | मास्टरबेशन के Alarming 4 वार

Masturbation side effects

Masturbation side effects | मास्टरबेशन की आदत पड़ जाना न सिर्फ आपकी मेंटल हेल्थ पर असर डालता है बल्कि रिलेशनशिप को भी बिगाड़ सकता है। इतना ही नहीं यह आपकी सोशल लाइफ में भी दखल डाल देता है। मास्टरबेशन की लत लग जाने पर किसी भी काम पर ध्यान देने में दिक्कत होने लगेगी।

आपकी बॉडी बार-बार आपको मास्टरबेट करने के लिए रिऐक्ट करेगी, जिससे जब तक आप बॉडी टेंशन रिलीज नहीं करेंगे तब तक काम नहीं कर पाएंगे। मास्टरबेट करने के लिए आपको वर्क बीच में छोड़ना पड़ेगा, जो परफॉर्मेंस पर असर डालेगा।

पार्टनर को कभी नहीं कर पाएंगे संतुष्ट

मास्टरबेट करने के दौरान आपकी जो इमेजिनेशन होता है या आप जो स्पीड कैरी करते हैं वैसा यौन संबंध बनाने के दौरान मेनटेन करना मुश्किल है, ऐसे में पार्टनर के साथ सेक्स के दौरान आप अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाते जो आपके साथ ही उसे भी असंतुष्टी देगा और रिश्ते पर असर डालेगा।

पार्टनर को आर्गेस्म मिलेगा नहीं आप हो जाएंगे खल्लास

Masturbation side effects के कारण व्यक्ति खुद की सैटिस्फाई कर लेता है, ऐसा बार-बार होने पर पार्टनर और उसके बीच के सेक्स रिलेशन पर असर पड़ने लगता है। मास्टरबेट करने पर पार्टनर के साथ यौन संबंध बनाने की इच्छा में भी कमी जाती है जो रिलेशनशिप पर प्रेशर बढ़ा देता है।

पीनस हो जाएगा कमज़ोर

एक दिन में कई बार मास्टरबेट करने पर पीनस पर भी बुरा असर पड़ता है। एक स्टडी के मुताबिक, ऐसा होने पर पीनस की मसल्स पर प्रेशर बढ़ जाता है जिससे उसे इरेक्शन में दिक्कत होने लगती है। Masturbation side effects काफी खतरनाक भी है।

दिमागी रूप से अपाहिज कर देता है मास्टरबेशन

एक स्टडी में सामने आया था जो लोग रोजाना मास्टरबेट करते हैं उनका सोशल लाइफ से कटाव ज्यादा होता है। इसकी प्रमुख वजह उनकी कभी भी मास्टरबेट करने की इच्छा हो जाना है, जो लोगों के बीच रहते हुए करना संभव नहीं है। इसका असर धीरे-धीरे व्यक्ति की मेंटल हेल्थ पर भी पड़ने लगता है। Masturbation side effects के नुकसान बहुत बताए जाते हैं।

Masturbation side effects से अलग एक्सपर्ट्स की मानें तो मास्टरबेट करने में कोई बुराई नहीं है लेकिन इसे सीमित मात्रा में करें और सैटिस्फैक्शन के लिए इस पर निर्भरता न बढ़ाएं। अगर लत लग जाए तो किसी फिजिकल ऐक्टिविटी को जॉइन करें जिससे दिमाग को डिस्ट्रैक्ट होने में मदद मिलेगी।

वैसे Masturbation side effects अगर आपको समझ आ गया हो तो आपको इससे दूर रहने में ही भलाई है अगर दूर ना भी रहें तो Masturbation side effects को देखते हुए इसे कम तो किया ही जा सकता है।

Masturbation side effects के बाद ये भी जान लें

Masturbation side effects के बारे में तो आपने जानकारी इकट्ठी कर ली। अब आपको बताते हैं मास्टरबेशन के अनजाने पहलू के बारे में। मास्टरबेशन को हमारे समाज में खुले तौर पर स्वीकार नहीं किया जाता।

नैतिक रूप से लोग इसे गलत मानते हैं और समझते हैं कि इसका शरीर पर बुरा असर पड़ता है। हालांकि मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन कोई नई बात नहीं है, बल्कि 18वीं सदी में इसके बारे में पहली बार सुना गया था।

इंडियाना यूनिवर्सिटी के नैशनल सर्वे ऑफ सेक्शुअल हेल्थ ऐंड बिहेवियर में सामने आया कि 25 वर्ष से 29 वर्ष के बीच की सिर्फ 7.9 फीसदी महिलाएं हफ्ते में दो से तीन बार मास्टरबेशन करती हैं, जबकि 23.4 फीसदी पुरुष हफ्ते में दो से तीन बार मास्टरबेशन करते हैं।

यह स्टडी 2014 में की गई थी। Sex Rx: Hormones Health And Your Best Sex Ever की लेखिका और नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी स्थित अब्स्टेट्रिक ऐंड गाइनकॉलजी में असोसिएट प्रफेसर, डॉ. लॉरेन स्ट्रीचर ने साल 2016 में एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन के फायदे बताए थे और कहा था कि हर महिला को मास्टरबेशन करना चाहिए। हालांकि Masturbation side effects बताने वाले लोग इसके खिलाफ हैं।

स्ट्रीचर के मुताबिक, प्लेजर से खुशी मिलती है। मास्टरबेशन करने से ऑर्गेज्म होता है और ऑर्गेज्म की अवस्था में डोपामीन और ऑक्सिटोसिन नाम के ऐंडोमॉर्फीन रिलीज होते हैं जो मूड को सुधारते हैं।

मास्टरबेशन सेक्शुअल टेंशन को रिलीज करता है और स्ट्रेस को भी कम करता है। इसके अलावा इसकी वजह से नींद भी अच्छी आती है। वैसे आपको बता दें कि अब फिल्म में भी मास्टरबेशन के सीन्स फिल्माए जाने लगे हैं। जो टैबू था वो टूट रहा है लेकिन इतना जानिए कि अगर आप मास्टरबेशन करते हैं तो अति हर चीज़ की बुरी होती है।

रिलेशनशिप की और खबरों के लिए Tharkii से जुड़े रहें और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें।

Top