You are here
Home > अपराध > गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना पड़ा गया भारी, हो गई जेल

गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना पड़ा गया भारी, हो गई जेल

गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना

गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना सेक्स के दौरान काफी प्लेजर देता है। जब पुरूष पार्टनर महिला की ब्रेस्ट दबाता है, उससे छेड़छाड़ करता है तो दोनों को ही आगे बढ़ने और खुलने का जोश आ जाता है। सेक्स सिर्फ पेनिट्रेशन ही नहीं है, बल्कि उससे बहुत ज्यादा शामिल होता है इसमें। फोरप्ले से लेकर ऑर्गेज्म तक, सेक्स की अलग-अलग स्टेज होती है जिसपर आपको बारी-बारी से जाना चाहिए।

एक अच्छे एक्सपीरियेंस के लिए हर स्टेज पर आपकी परफॉर्मेंस मायने रखती है। सेक्स के दौरान एक ऐसी एक्टिविटी होती है जो पुरूषों और महिलाओं दोनों को अराउज़ करती है।

37 साल के एक मेडिकल ग्रेजुएट को सेक्स के दौरान लड़की के ब्रेस्ट को ‘ज्यादा जोर’ से दबाने की वजह से यौन शोषण का दोषी पाया गया। हालांकि सेक्स दोनों सहमति से कर रहे थे लेकिन इसके बावजूद कोर्ट ने माना कि गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना हिंसा है।

37 साल का फ्लिप क्यूरे टिंडर के जरिए लड़की से मिला था, जिसके बाद दोनों के बीच सेक्स होने लगा। कोर्ट ने पाया फ्लिप ने लगातार लड़की की मर्जी के खिलाफ जाकर गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना शुरु कर दिया और सेक्स के दौरान लड़की के बाल भी खींचे। मामला जर्सी आइसलैंड का है।

मेरे ब्रेस्ट को उसने इतनी ज़ोर से दबाया कि मैं रो पड़ी

पीड़ित लड़की ने अपनी शिकायत में बताया था ‘सेक्स के दौरान फ्लिप ने हिंसा की। उसने मेरे ब्रेस्ट को बेहद क्रूर तरीके से दबाया। ये इतना बुरा था कि मैं दर्द से तड़प उठी और रोने लगी। ऐसे में मैंने उससे कहा कि वो सेक्स के दौरान मेरे ब्रेस्ट को हाथ नहीं लगाएगा।’

फ्लिप लगातार उसके ब्रेस्ट के साथ गंदी हरकत करता रहा

लड़की ने बताया कि उसके फ्लिप को ये कहने के बावजूद भी कि वो सेक्स के दौरान उसके बाल नहीं पकड़ेगा और ब्रेस्ट नहीं दबाएगा, उसने लगातार जबरदस्ती की और इसे दोहराया जबकि वो लगातार बताती रही कि ये उसके लिए असहनीय दर्द देने वाला है। इसके बाद लड़की ने इसकी शिकायत की तो मामला कोर्ट पहुंचा।

कोर्ट ने ब्रेस्ट दबाने पर दी ऐसी सज़ा

इस मामले में जर्सी के मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उसे दोषी पाया था जिसके खिलाफ उसने अपील की थी लेकिन कोर्ट ने पाया कि फ्लिप ने गलत किया है। कोर्ट ने पाया कि ये एक शोषण है। कोर्ट ने माना कि लड़की की मर्जी के बिना वो ऐसा नहीं कर सकता भले ही ये सेक्स के दौरान हो। कोर्ट ने उसे पांच साल के लिए सेक्स ऑफेंडर के तौर पर रजिस्टर करने की बात कही है। साथ ही उस पर 2000 पाउंड (करीब 1 लाख 72 हजार रुपए) का फाइन भी लगाया है। वो पांच साल तक पीड़ित लड़की से संपर्क भी नहीं कर सकता है।

कई लोग स्तन के साइज को बढाने के लिए भी ऐसा करते हैं लेकिन हकीकत जानकर आप चौंक जाएंगे।

स्तन को दबाने का क्या होता है असर?

कई लोगों में स्‍तनों को लेकर ये गलतफहमी है गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना अच्छा है इससे इनकी साइज में बढ़ोत्तरी होती है। यह महज एक भ्रम है क्योंकि आज तक इतने रिसर्च हुए जिसके मुताबिक ऐसा कोई भी सिचुएशन नहींं है और जब गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना उसकी साइज बड़ा करने में मदद कर सके।

बंद कमरे में जब आप अपने पार्टनर से मिलती हैं, तो क्या आपके पार्टनर को आपके सीने से लिपटना अच्छा लगता है? अधिकांश का जवाब होगा हां. जी हां यह सिर्फ इसलिए क्योंकि सेक्स के दौरान स्तन की काफी अहम भूमिका होती है. सही मायने में देखें तो यह पुरुषों को अपनी ओर आकर्षित कर सेक्स के लिए प्रेरित करता है।

पुरुषों को पसंद है ब्रेस्ट पर किस करना

हालांकि यह काफी सामान्य बात है कि बेडरूम के अंदर अधिकांश पुरुष अपनी पार्टनर के गाल की जगह स्तन पर किस करना पसंद करते हैं, लेकिन यहां पर स्त्रियों की भूमिका भी काफी अहम होती है। वो स्त्रियां जो स्तन को दबाने, किस करने, मसाज करने, आदि से अपने पार्टनर को रोकती हैं, उनकी सेक्स ड्राइव ज्यादा लंबी नहीं होती।

ब्रेस्ट पर हिंसक तरीके से किस करना है घातक

सच पूछिए तो पार्टनर को इससे न रोकने से उन महिलाओं को फायदा पहुंचता है, जिन्हें सेक्स की चरम सीमा तक पहुंचने में काफी समय लगता है। देखा जाए तो फोर सेक्स यानी संभोग से पहले की क्रिया में स्तन पर मसाज करना या उस पर चुंबन लेना काफी कारगर साबित होता है। गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना सही है लेकिन कठोरता से नहीं।

आप कैसे करें पार्टनर के ब्रेस्ट का सही इस्तेमाल?

लेकिन आप क्या करें क्योंकि सेक्स के दौरान तो ये स्वाभाविक क्रिया है। आपको बता दें कि कभी-कभी पुरूष पार्टनर की ज्यादा एक्साइटमेंट से महिलाओं को दर्द या परेशानी भी हो सकती है। गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना भी एक फैंटेसी है। अगर आप चाहते हैं कि ये एक्सपीरियेंस महिलाओं के लिए भी ख़ास हो, तो इन टिप्स को अपनाएं।

टिप्स

• निपल्स को दबाते या स्ट्रोक करते हुए काफी सावधानी बरतें, क्योंकि ये महिलाओं के शरीर का सबसे सेंसिटिव हिस्सा होता है।

• ब्रेस्ट पर बहुत दबाव न डालें या उन्हें बहुत जोर से  न दबाएं, इससे महिलाओं को दर्द हो सकता है।

• ब्रेस्ट को एकदम से अपने मज़बूत हाथों से भींचे नहीं, हल्के से उंगलियों से उन्हें छुएं और सर्कुलर मोशन में मूव करें।

ध्यान रखें, सेक्स के दौरान अपनी पार्टनर का रिएक्शन देखते रहें। उसे जो अच्छा लग रहा हो, वही करें और इस तरह आगे बढें। इससे आप दोनों का एक्सपीरियेंस बहुत अच्छा होगा। गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना स्वाभाविक क्रिया है। गर्लफ्रैंड का ब्रेस्ट दबाना भी चाहिए लेकिन उसकी मर्जी से।

ऐसी ही बेहतरीन जानकारी के लिए ठरकी को इंस्टाग्राम पर फॉलो करें

Leave a Reply

Top