You are here
Home > दुनिया > ब्रिटिश संसद में लोग रोज़ाना 160 बार देखते हैं अश्लील वेबसाइट्स, खुलासा

ब्रिटिश संसद में लोग रोज़ाना 160 बार देखते हैं अश्लील वेबसाइट्स, खुलासा

ब्रिटिश संसद

ब्रिटिश संसद में लोग रोज़ाना 160 बार देखते हैं अश्लील वेबसाइट्स, खुलासा, ब्रिटिश संसद में अश्लील वेबसाइटों को लेकर चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है। ब्रिटेन के संसद भवन में लगे कंप्यूटरों से वर्ष 2017 के अंत में रोजाना करीब 160 बार अश्लील वेबसाइटों को खोलने की कोशिश की गई है। ब्रिटेन की प्रेस एसोसिएशन (पीए) ने आज यह रिपोर्ट दी है। पीए फ्रीडम ऑफ इंफोरमेशन (एफओआई) द्वारा प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल जून में हुए आम चुनावों के बाद संसदीय नेटवर्क से जुड़े उपकरणों से 24,473 बार अश्लील वेबसाइटों को खोलने की कोशिश की गई है।संसदीय इंटरनेट का इस्तेमाल सांसद, उच्च सदन के सदस्य और उनका स्टाफ करता है। अधिकारियों ने दावा किया कि अधिकतर कोशिशें जानबूझकर नहीं की गई थी और हाल के सालों में इसमें गिरावट आई है। संसदीय प्रवक्ता ने पीए को बताया कि संसद के कंप्यूटर नेटवर्क पर सभी अश्लील वेबसाइटें ब्लॉक हैं।

इसे भी पढ़िए:   लड़कियां सेक्स के दौरान कंडोम से क्यों चिढ़ती हैं? वजह जानकर सिर पकड़ लेंगे आप

प्रधानमंत्री टेरीजा वेस्टमिनिस्टर में यौन उत्पीड़न के आरोपों से जूझ रही हैं। उन्हें पिछले महीने अपने पुराने दोस्त और मंत्री डैमियन ग्रीन को बर्खास्त करना पड़ा क्योंकि वर्ष 2008 में वेस्टमिनिस्टर दफ्तर के उनके कंप्यूटर में अश्लील सामग्री मिलने के दावों को लेकर उन्होंने पुलिस को गुमराह किया था। क्रिसमस से पहले ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे को अपने सबसे करीबी सहयोगी और फर्स्ट सेक्रेटरी ऑफ स्टेट (उप प्रधानमंत्री) डैमियन ग्रीन के कैबिनेट से इस्तीफे के कारण बड़ा झटका लगा था। ग्रीन ने उनके द्वारा मंत्रियों की आचार संहिता का उल्लंघन किये जाने की पुष्टि होने के बाद इस्तीफा दे दिया था।

इसे भी पढ़िए:   अमेरिकी सेना में होने वाले यौन शोषण का मामला गर्माया!

संसदीय जांच में यह साबित होने के बाद कि वर्ष 2008 में हाउस ऑफ कॉमन्स कार्यालय में उनके कंप्यूटर पर अापत्तीजनक मिलने के दावों के संबंध में ग्रीन ने जानकारी होते हुए गलत और भ्रमित करने वाले बयान देकर मंत्रियों की आचार संहिता का उल्लंघन किया था। अपने इस्तीफे में ग्रीन ने लिखा था, ‘‘मैं माफी चाहता हूं कि इस विषय पर मेरे बयान भ्रामक थे।’’ अपनी प्रतिक्रिया में थेरेसा मे ने ग्रीन के इस्तीफे पर गहरा दुख जताया भी जताया था। गलत बर्ताव को लेकर जांच का सामना कर रहे ग्रीन ने इस बात से इनकार किया था कि, साल 2015 में उन्होंने पत्रकार केट मेल्टबी के साथ गलत व्यवहार किया था और वर्ष 2008 में हाऊस ऑफ कॉमन्स के अपने कंप्यूटर पर आपत्तिजनक वीडियो देखा था।

Top