You are here
Home > अपराध > डॉक्टर लैरी नासर को 175 साल की सज़ा, 160 महिलाओं के यौन उत्पीड़न का आरोप था

डॉक्टर लैरी नासर को 175 साल की सज़ा, 160 महिलाओं के यौन उत्पीड़न का आरोप था

डॉक्टर लैरी नासर

डॉक्टर लैरी नासर को 175 साल की सज़ा, 160 महिलाओं के यौन उत्पीड़न का आरोप था, महिला एथलीटों के यौन उत्पीड़न के दोषी पाए गए अमेरिकी जिमनास्टिक टीम के पूर्व चिकित्सक डॉक्टर लैरी नासर (54) को 175 साल की सजा सुनाई गई है। डॉ. नासर चार ओलंपिक खेलों में अमेरिकी टीम के साथ जुड़ा रहा था। इस दौरान उसपर ओलंपिक विजेताओं समेत करीब 160 खिलाडि़यों के यौन शोषण का आरोप लगा था।

इसे भी पढ़िए:   32 साल की टीचर 14 साल के मासूम से जबरन करती थी सेक्स! आरोप साबित

कोर्ट की कार्यवाही के दौरान नासर ज्यादातर समय सिर झुकाए खड़ा रहा। उसे सजा मिलते ही कोर्ट में उपस्थित पीडि़त खिलाडि़यों की आंखों में आंसू आ गए। सभी ने एक दूसरे से गले लगकर अदालती फैसले पर एक दूसरे को बधाई दी। बच्चों के यौन शोषण से जुड़े मामले में नासर पहले से 60 साल की सजा काट रहा है।

इसे भी पढ़िए:   मुंबई में एक युवक ने अपने दोस्त युवक के साथ बनाना चाहा अप्राकृतिक संबंध!

कोर्ट में जज के सामने पीडि़ताओं ने बताया कि डॉक्टर लैरी नासर इलाज के नाम पर उनका यौन शोषण किया करता था। वह अपनी गंदी हरकतों को इलाज का नाम देता था। इसलिए शुरुआत में कुछ महिलाओं ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी, लेकिन धीरे-धीरे यह बात आग की तरह फैल गई।

इसे भी पढ़िए:   गैंगरेप पीड़िता की एफआईआर लिखने से पहले पुलिस वाले ने किया रेप!

महिला एथलीटों ने नासर के साथ यूएसए जिमनास्टिक्स और मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी पर भी शोषण के आरोपों को नजरअंदाज करने का केस दर्ज करवाया था। नासर कुछ दिनों तक यूनिवर्सिटी में भी कार्यरत था। इस संबंध में आलोचनाओं के बाद यूनिवर्सिटी की अध्यक्ष ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं यूएस ओलंपिक समिति ने यूएस जिमनास्टिक्स के सभी निदेशकों के इस्तीफे की मांग की है।

इसे भी पढ़िए:   भाभी के साथ देवर ने दोस्त के भाई के सामने किया रेप!

उल्लेखनीय है कि नासर ने अपने बचाव के लिए इंघम जिले के सर्किट कोर्ट में याचिका दायर की थी। नासर का कहना था कि महिलाओं ने रुपये और प्रसिद्धि पाने के लिए मनगढ़ंत आरोप लगाए हैं। हालांकि, जज ने इस याचिका को सिरे से खारिज कर दिया। जज रोजमेरी एक्यूलिना ने फैसला सुनाते हुए कहा ‘मैंने तुम्हारे डेथ वारंट पर हस्ताक्षर किया है। तुम फिर कभी जेल से बाहर निकलने के हकदार नहीं हो। तुम इतने खतरनाक हो, जहां तक कोई सोच भी नहीं सकता है।’

इसे भी पढ़िए:   पत्नी के अवैध संबंधों की बलि चढ़ा पति, आरोपी प्रेमी और पत्नी गिरफ्तार!

पीडि़त पक्ष की वकील पोविलाइतिस ने कहा, ‘अदालत का यह फैसला इतिहास में अहम मोड़ की तरह जाना जाएगा। इससे आने वाले समय में लोग जान पाएंगे कि हमारा देश और समाज यौन शोषण जैसे अपराधों के प्रति कितना सख्त था।’ मालूम हो कि सबसे पहले 2016 में रसैल डेनहालेंडर ने नासर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

इसे भी पढ़िए:   प्रेमी और प्रेमिका कर रहे थे सेक्स, चार लोगों ने देखा और कहा हमें भी करना है सेक्स!

इसके बाद ओलंपिक खेलों में चार स्वर्ण पदक जीत चुकीं जिमनास्ट सिमोन बाइल्स, गैबी डगलस, ऐली रेसमन और मैककायला मारोनी समेत कई महिला एथलीटों ने नासर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। ओलंपिक गोल्ड मेडल विजेता जिम्नास्ट ऐली रेसमन ने नासर को संबोधित करते हुए कहा कि तुमने जिन लोगों का उत्पीड़न किया, वे आज ताकत बन चुकी हैं। तुम कुछ भी नहीं हो।

Top