You are here
Home > अपराध > जेठ ने अकेली बहू देखी और नीयत बदल गई, बेडरूम में ले जाकर किया रेप!

जेठ ने अकेली बहू देखी और नीयत बदल गई, बेडरूम में ले जाकर किया रेप!

जेठ

जेठ ने अकेली बहू देखी और नीयत बदल गई, बेडरूम में ले जाकर किया रेप! हरियाणा के यमुनानगर से रिश्तों को तार-तार कर देने वाली खबर आई है। नई-नई ब्याह कर आई महिला के साथ उसके जेठ ने छल से रेप किया और जब महिला गर्भवती हो गई तो पति ने भी उसे अपनाने से इनकार कर दिया। पति ने महिला का गर्भपात करा उसे उसके मायके छोड़ दिया। महिला का मायका रादौर गांव में हैं, जहां उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने महिला के जेठ के खिलाफ जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला कुरुक्षेत्र पुलिस को रेफर कर दिया है। जांच अधिकारी SI कुसुम बाला का कहना है कि महिला ने अपने जेठ पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़िए:   पत्नी के गुप्तांग को सिगरेट से जलाता था फिर करता था अप्राकृतिक सेक्स!

पीड़िता के मुताबिक, हालांकि कुछ ही दिन बाद उसका पति, सास-ससुर और जेठानी किसी काम से बाहर गए हुए थे।अकेला देख जेठ घर में आया और चाय बनाने के लिए कहा। पीड़िता ने चाय बनाई, लेकिन इस बीच मोबाइल पर किसी का फोन आ गया। बात करने के दौरान उसके जेठ ने चाय में कोई नशीला पदार्थ मिला दिया, जिसे पीकर वह अचेत हो गई। अचेतावस्था में जेठ ने उसके साथ रेप किया और उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया। इसी वीडियो के जरिए ब्लैकमैल कर वह लगातार पीड़िता का रेप करता रहा। इस बीच पीड़िता गर्भवती हो गई। पीड़िता के पति को जब अपनी पत्नी के गर्भवती होने का पता चला तो उसने उसे अपना बच्चा मानने से इनकार कर दिया। ससुराल वालों ने उसका दो बार गर्भपात भी कराया और बाद में उसे मायके छोड़ दिया।

इसे भी पढ़िए:   गैंगरेप कर वीडियो बनाया और तीन सालों में महिला से वसूले 22 लाख रूपये!

पुलिस के मुताबिक, 23 वर्षीय पीड़िता की शादी इसी साल जनवरी में कुरुक्षेत्र जिले के एक गांव में हुई थी। पीड़िता के मुताबिक, उसका पति काम के सिलसिले में अक्सर घर से बाहर रहता है और पति का बड़ा भाई शुरू से उस गलत नजर रखता था। पीड़िता के मुताबिक, वो पहले भी उसका रेप करने की कोशिश कर चुका है। हालांकि पति और ससुराल वालों को बताने पर सभी उलटे उसे ही गलत ठहराने लगे। पहली बार भी उसने जेठ की गंदी हरकत के बारे में अपने माता-पिता को भी बताई थी। उस समय भी जेठ के खिलाफ पुलिस में शिकायत की गई थी। लेकिन तब परिवार वालों की रजामंदी से केस को दबा दिया गया था।

Top