You are here
Home > दुनिया > ISIS के आतंकी आते, मेरे कपड़े उतारते और सेक्स करने लगते, नर्क था मेरे लिए वो

ISIS के आतंकी आते, मेरे कपड़े उतारते और सेक्स करने लगते, नर्क था मेरे लिए वो

ISIS

ISIS के आतंकी आते, मेरे कपड़े उतारते और सेक्स करने लगते, नर्क था मेरे लिए वो, आईएसआईएस के चंगुल में सेक्स स्लेव की जिंदगी गुजारने वाली फरीदा खलफ की जिंदगी में खुशियां लौट रही हैं। उसे अब अपना लाइफ पार्टनर मिल गया है। फरीदा को 16 साल की उम्र में आतंकियों ने किडनैप कर लिया था। उनकी कैद में गैंगरेप और तकरीबन रोज रेप का शिकार हुई। उसे इतना टॉर्चर किया गया था कि कुछ समय के लिए उसकी आंख की रोशनी तक चली गई थी। अपनी स्थिति से निराश होकर उसने चार बार खुदकुशी की भी कोशिश की थी।

इसे भी पढ़िए:   टैक्स के नाम पर सेक्स टैक्स, ब्रेस्ट टैक्स, बैचलर टैक्स, बाप रे बाप!

फरीदा ने बताया कि जब वो 16 साल की थी तो ISIS के लड़ाकों ने उसे किडनैप कर लिया था। वहां उसे सेक्‍स स्‍लेव बनाकर रखा जाता था। ISIS आतंकी रोज रेप करते थे। फरीदा ने बताया कि चार माह तक इस कदर टॉर्चर किया गया था कि कुछ समय के लिए उसकी आंख की रोशनी तक चली गई थी। फरीदा ने बताया कि चार महीने की कैद में वो नर्क भरा जीवन जीने के लिए मजबूर थी। शुरुआत में तो लगता था कि हर मिनट मेरा रेप हो रहा है। न जाने कितनी बार गैंगरेप का शिकार हुईं और तकरीबन रोज उसे रेप का शिकार होना पड़ा। फरीदा ने बताया ISIS आतंकियों ने उनके साथ वो सब किया जो कोई जानवर के साथ भी नहीं करेगा। फरीदा को आतंकियों ने इतनी बुरी तरह पीटा था कि उनके सिर की हड्डियां तीन जगह से टूट गई थीं। 

इसे भी पढ़िए:   पटाया बन चुका है सेक्स टूरिज्म का आइकॉन, जानिए सरकार क्यों नहीं रोकती

जब मर्जी होता आईएसआईएस आतंकी आते और बेहद घिनौने तरीके से उसके कपड़े उतार कर सेक्स करना शुरु कर देते। उन्हें इस बात से मतलब ही नहीं था कि हम इंसान हैं या नहीं। उन्हें बस अपनी हवस मिटानी थी। मैंने 16 साल की उम्र से उन हैवानों को देखा है। अपने हालात से परेशान होकर और इनके चंगुल से आजाद होने के लिए उसने चार बार सुसाइड की भी कोशिश की, लेकिन हर बार आतंकियों ने उसे बचा लिया। इसके बाद फरीदा ने आठ लड़कियों के साथ वहां से हिम्मत दिखाकर भागने की कोशिश की और कामयाब हो गईं। अब वो जर्मनी के एक रिफ्यूजी कैंप में रह रही हैं।

इसे भी पढ़िए:   कपड़े नहीं होते रेप के ज़िम्मेदार, बेल्जियम में रेप पीड़िताओं के कपड़ों की प्रदर्शनी

फरीदा अब 21 साल की हो चुकी हैं और इतने साल बीतने के बाद वो दोबारा से लोगों पर भरोसा करना सीख रही हैं। उन्होंने साथी रिफ्यूजी नाजहन इलियास में अपना प्यार भी ढूंढ लिया है। फरीदा कहती हैं कि मैंने कभी भी नहीं सोचा था कि मुझे किसी के साथ खुशी मिलेगी। अब मैं खुश हूं और अपनी एंगेजमेंट और वेडिंग पार्टी की तैयारी कर रही हूं।

Leave a Reply

Top