You are here
Home > अपराध > भाभी की बहन को हासिल करने के लिए अपनी पत्नी के साथ किया घिनौना काम

भाभी की बहन को हासिल करने के लिए अपनी पत्नी के साथ किया घिनौना काम

भाभी

भाभी की बहन को हासिल करने के लिए अपनी पत्नी के साथ किया घिनौना काम, भागलपुर के संप्रीति अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर-101 में नेहा कुमारी की हत्या मामले में नया खुलासा हुआ है। पुलिस जांच में आया है कि नेहा का पति दिनेश रजक उर्फ दिनेश प्रसाद आजाद का उसकी भाभी की बहन से अवैध संबंध थे। इसलिए पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए उसने पहले उसकी हत्या की और फिर इसे हादसा दिखाने के लिए करंट के शॉक दिए।

दरअसल दिनेश पत्नी नेहा से कोई बच्चा नहीं चाहता था। जबकि नेहा मां बनना चाहती थी। इसलिए दिनेश नेहा को खाने में दवाई मिलाकर देता था ताकि वो प्रेग्नेंट न हो। नेहा को मां बनने से रोकने के लिए उसका पति दिनेश उसे दो साल तक अनडिजायर टेबलेट खिलाता रहा और इसकी भनक भी उसे नहीं लगने दी। नेहा जब भी गर्भवती होती थी तो दिनेश खुद उसके लिए नाश्ता बनाता था। नेहा इसे अपने और होने वाले बच्चे के प्रति पति का प्यार समझती थी, लेकिन दिनेश इसकी आड़ में अनडिजायर टेबलेट खिलाकर उसे मां बनने से रोक देता था। साल 2015 के जून में शादी के बाद 2016 तक नेहा दो बार प्रेग्नेंट हुई। लेकिन नेहा को बिना बताए दोनों बार दिनेश उसे अनडिजायर टेबलेट देता रहा।

नेहा की हत्या के बाद सोमवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट में हत्या की आशंका सही साबित हुई है। नेहा के शरीर पर एंटी मार्टम और पोस्टमार्टम दोनों तरह की इंज्यूरी मिली है। एंटी मार्टम इंज्यूरी यानी, हत्या से पहले मारपीट के जख्म। पोस्टमार्टम इंज्यूरी मतलब मौत के बाद शरीर पर किये गए जख्म। पोस्टमार्टम में पता चला है कि मौत के बाद नेहा को करंट लगा कर उसके शरीर पर कई जख्म बनाए गए, ताकि लोगों को लगे कि उसकी मौत एक हादसा है। किसी पिंजरे जैसी चीज में नेहा के गर्दन तक के भाग को घुसाकर करंट लगाया गया है, ऐसी आशंका जताई जा रही है। इस कारण नेहा के गर्दन और गाल पर कई जगह कटने के निशान थे और उससे खून निकल रहा था। इस खुलासे के बाद यह स्पष्ट हो चुका है कि नेहा की मौत करंट लगने से नहीं हुई है, बल्कि साजिश रच कर उसे मारा गया है।

इसे भी पढ़िए:   ब्लड कैंसर पीड़िता के साथ गैंगरेप: मुख्य आरोपी गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी
Top