You are here
Home > देश > रेप का हैवानियत भरा अंदाज़, चाय पीकर बार बार रेप करते रहे चार आरोपी

रेप का हैवानियत भरा अंदाज़, चाय पीकर बार बार रेप करते रहे चार आरोपी

रेप

रेप का हैवानियत भरा अंदाज़, चाय पीकर बार बार रेप करते रहे चार आरोपी, देशभर में चर्चित हुए भोपाल गैंगरेप केस में 23 दिसंबर को कोर्ट का बड़ा फैसला आ रहा है। IAS की तैयारी कर रही यूपीएससी छात्रा के साथ हुए इस दुराचार के मामले में देशभर की निगाह लगी है। कोचिंग क्लास से लौट रही छात्रा के साथ जो कुछ भी हुआ उसकी पूरी घटना सुनाई तो सभी की रूह कांप उठी। मध्यप्रदेश के भोपाल में 19 वर्षीय छात्रा के साथ दरिंदगी का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। वह 31 अक्टूबर की शाम को हबीबगंज रेलवे स्टेशन के पास से रेलवे ट्रैक पार कर रही थी। तभी वहां जुआ खेल रहे चार आरोपियों ने उसे घेर लिया। उसका मुंह दबाकर रेलवे ट्रेक के किनारे 20 फीट नीचे नाले में ले गए। जहां उन्होंने बारी-बारी से रेप किया।

इसे भी पढ़िए:   शादीशुदा महिला से सहमति से सेक्स करने पर सिर्फ पुरुष को ही सज़ा क्यों?

इतना ही नहीं मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में हुए गैंगरेप के बाद पुलिस और प्रशासन की लापरवाही के बाद अब मेडिकल रिपोर्ट में हुई लापरवाही ने सबको चौंका दिया। इस रिपोर्ट में महिला डाक्टर ने लिखा कि ‘सबकुछ’ सहमति से हुआ है। भोपाल गैंगरेप मामले में अब लेडी डाक्टर का चेहरा सामने आया। गैंगरेप के बाद हुई छात्रा की मेडिकल जांच के बाद जो रिपोर्ट आई उसमें लेडी डाक्टर ने लिखा है कि ‘सहमति से सहवास’ हुआ। पुलिस और प्रशासन के बाद अब महिला डाक्टर की रिपोर्ट में हुई लापरवाही का मामला तूल पकड़ गया। इधर मामले के तूल पकड़ने के बाद जांच रिपोर्ट में चार लोगों द्वारा 6 बार रेप करना बताया गया है।

इसे भी पढ़िए:   सेक्स की भूख मर्दों में बढ़ती जा रही है, इसीलिए हो रहे हैं यौन अपराध

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पीडि़ता ने जो कहानी पुलिस को बताई उसके मुताबिक जब यह लोग उसे पुलिया के नीचे ले गए उस समय गोलू बिहारी के साथ अमर नामक युवक भी था, दोनों ने पहले पीड़िता के साथ रेप किया। बाद में गोलू अमर को लड़की पर नजर रखने की बात कहकर वहां से चले गया। 15 मिनट के लिए गोलू चाय, सिगरेट और गुटखा लेकर वापस उसी स्थान पर पहुंचा, फिर उसने पीड़िता के साथ फिर रेप किया।पीड़िता के मुताबिक उसने दोनों आरोपियों से कुछ कपड़ों की मांग को तो गोलू बिहारी उसके लिए कुछ कपड़े लेकर आया, लेकिन गोलू के साथ दो युवक रमेश और राजेश भी साथ आ गए। इसके बाद वहां का मंजर ही बदल गया। चारों ने फिर बारी-बारी से गैंगरेप किया। चारों आरोपियों की दरिंदगी तीन घंटे तक चलती रही। इस बीच ज्यादती के कारण छात्रा बेहोश हो गई। चारों युवक उसे नग्न अवस्था में ही छोड़कर रफूचक्कर हो गए। होश में आने पर छात्रा जैसे-तैसे रात में घर पहुंची, परिजनों के साथ थाने भी पहुंची। लेकिन रिपोर्ट नहीं लिखी गई। सुबह होते ही पीडि़ता के माता-पिता एफआईआर लिखाने एमपी नगर थाने पहुंचे तो पुलिस ने सीमा क्षेत्र के खेल में उलझाकर उन्हें हबीबगंज थाने भेज दिया, जहां से उन्हें जीआरपी थाने जाने को बोला गया। पीड़िता के माता-पिता दोनों ही पुलिस में हैं। पिता जीआरपी में ही सब इंस्पेक्टर हैं।

इसे भी पढ़िए:   सुहागरात पर दूल्हे ने जब देखा दुल्हन का शरीर तो डर कर कांपने लगा!

इस बीच पीड़िता अपनी मां के साथ घटनास्थल के पास से गुजर रही थी, तो पास की ही झुग्गी बस्ती में एक आरोपी नजर आ गया। तो मां और उसके पिता ने दौड़कर उसे दबोच लिया। इसके बाद आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया। शाम को एफआईआर दर्ज हो पाई, वह भी जीआरपी थाने में। बुधवार को गिरफ्तार आरोपी गोलू को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया। शुक्रवार को आरोपियों का मेडिकल कराया गया। बाकी तीन अमर उर्फ छोटू, राजू उर्फ राजेश, राजू उर्फ रमेश को गुरुवार शाम पकड़ा। ये सभी स्टेशन के आस-पास झुग्गी में रहते हैं। दो आरोपी गोलू और रमेश जीजा-साले हैं। चार आरोपियों ने 19 वर्षीय छात्रा का अपहरण कर गैंगरेप किया उनमें से एक आरोपी अपनी ही दूधमुंही बेटी की हत्या के मामले में जेल जा चुका है। वो जमानत पर था। जिस स्थान पर गैंग रेप हुआ उससे मात्र पचास मीटर दूर ही जीआरपी थाना था। लड़की के पिता भी भी जीआरपी में ही सब इंस्पेक्टर हैं, जबकि माता भी पुलिस विभाग में ही कार्यरत है।

Top