You are here
Home > अपराध > नाबालिग नौकरानी पर फिदा हुआ मकान मालिक, अकेली पाकर टूट पड़ा हवस का दरिंदा

नाबालिग नौकरानी पर फिदा हुआ मकान मालिक, अकेली पाकर टूट पड़ा हवस का दरिंदा

नाबालिग नौकरानी

नाबालिग नौकरानी पर फिदा हुआ मकान मालिक, अकेली पाकर टूट पड़ा हवस का दरिंदा, जयपुर में एक नाबालिग नौकरानी के साथ गैंगरेप करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामला राजधानी जयपुर के मुरलीपुरा थाना इलाके का है। खास बात ये है कि आरोपी पीडिता का अश्लील वीडियों बनाकर उसे सोशल साइट पर डालने की धमकी देकर एक साल तक अस्मत लूटते रहे। हालांकि पीड़िता ने दिल्ली में जाकर आरोपियों के खिलाफ यह मामला दर्ज कराया। बाद में पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर उसे मुरलीपुरा थाने भेज दिया। पुलिस अब मामले की जांच कर रही है।

इसे भी पढ़िए:   मौलवी ने झाड़फूंक के बहाने महिला से किया रेप | पति के सामने पत्नी से गैंगरेप

मुरलीपुरा थानाधिकारी नवीन खंडेलवाल के मुताबिक 17 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता नाबालिग नौकरानी दिल्ली की रहने वाली है। नाबालिग नौकरानी एक कंपनी के जरिए साल 2016 में जयपुर आई और मुरलीपुरा थाना इलाके के शिव नगर में स्थित एक अपार्टमेंट में बजरंग और भावुक के यहां पर घरेलू नौकरानी के काम पर लगी थी। पहले तो कुछ दिनों तक फ्लैट मालिक बजरंग और भावुक ने अच्छे से रखा। लेकिन कुछ दिन बाद आरोपियों ने एक दिन घर में नाबालिग नौकरानी को अकेला पाकर सामुहिक दुष्कर्म किया।

इसे भी पढ़िए:   लड़की ने ब्वॉयफ्रैंड के साथ किया सेक्स, ब्लीडिंग देखकर परिवारवालों ने उठाया कदम!

यही नहीं इस दौरान आरोपियों ने पीडिता का अश्लील वीडियो भी बना लिया। वीडियो की आड़ में आरोपी करीब एक साल तक पीडिता को डरा-धमकाकर दुष्कर्म करते रहे। इसके बाद पीडिता दिल्ली चली गई और परिवार को पूरी आपबीति बताई। बाद में परिजनों ने पीडिता को ले जाकर पुलिस में मामला दर्ज कराया। पुलिस ने जीरो एफआईआर काटकर मुरलीपुरा थाने को भेज दी। पुलिस अब मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।

इसे भी पढ़िए:   बेहोश गर्लफ्रैंड को होश में लाने के लिए तब तक किया सेक्स, जबतक वो मर नहीं गई

देखना होगा कि आखिर आरोपी कब तक पुलिस की गिरफ्त में आते हैं। फिलहाल पीड़ित किशोरी मानसिक रूप से पूरी तरह टूट चुकी है। उसे ये उम्मीद ही नहीं थी कि जिस घर में वो काम कर रही थी। वहां उसकी इज्जत इस तरह तार तार हो जाएगी। वैसे देखा जाए तो अब अपार्टमेंट्स में इस तरह के कई केस सामने आ रहे हैं जो काफी खतरनाक हैं। खास तौर से लड़कियों या महिलाओं के लिए इसे सुरक्षित नहीं कहा जा सकता।

Leave a Reply

Top