You are here
Home > देश > केरल में व्हाट्सएप के ज़रिए बढ़ रहा है चाइल्ड पॉर्न का मामला! शर्मनाक!

केरल में व्हाट्सएप के ज़रिए बढ़ रहा है चाइल्ड पॉर्न का मामला! शर्मनाक!

केरल में व्हाट्सएप के ज़रिए बढ़ रहा है चाइल्ड पॉर्न का मामला! शर्मनाक! भारत में इंटरनेट का फैलाव तेजी से हुआ और उतनी ही तेजी से हमारे समाज में विकृतियां भी लेकर आया है। लोगों में पोर्न देखने की प्रवृत्ति पहले भी थी, लेकिन जब से फ्री डाटा लोगों को मिल रहा है, लोग इसका बेजा फायदा उठा रहे हैं। पोर्न देखना किसी का निजी मामला हो सकता है, लेकिन जब पोर्न देखकर कुंठित लोग गलत हरकत करते हैं और उससे समाज प्रभावित होता है, तो यह मामला निजता का नहीं रह जाता है। पिछले दिनों भारत के केरल राज्य में एक ऐसा ही मामला सामने आया था, जिसमें यह बात थी कि कुछ लोग चार व्हाट्‌सएप ग्रुप चला रहे हैं , जिसमें छोटी बच्चियों की अश्लील तसवीरें और वीडियो अपलोड की जाती है और लोग इसका आनंद उठाते हैं। यहां तक कि लोग इसे गलत भी नहीं मानते। इस तरह के एक ग्रुप के एडमिन शराफ अली को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।  इस संबंध में एक फेसबुक पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें उस व्हाट्‌सग्रुप के बारे में जानकारी दी है और यह बताया गया है कि किस तरह वे लोग अश्लील कंटेंट यहां डालते हैं।

इसे भी पढ़िए:   युवती ने दो महिलाओं से की शादी, टॉय की मदद बनाती थी संबंध

उसकी बेटियां जब तीन साल की हो जातीं हैं, तो वो उनका ‘इस्तेमाल’ करना छोड़ देता है। वो बस, एक साल से तीन साल की उम्रतक की अपनी बेटियों का ही इस्तेमाल करता है। क्योंकि उसके बाद बच्चों को चीजें याद रह जातीं हैं। इसी से वो तीन साल से बड़े बच्चियों से बलात्कार नहीं करता। वो अपनी शिकार बच्चियों का बाप है। चार चैट ग्रुप में हर में पांच हजार से ज्यादा सदस्य हैं। उनमें से ज्यादातर की राय ये है कि बच्चों से बलात्कार कोई अनुचित बात नहीं। चार साल तक की उम्र तक उनका इस्तेमाल किया जा सकता है। उनकी तस्वीरें शेयर की जा सकतीं हैं। क्योंकि इस उम्र की बातें उनको याद याद नहीं रहतीं। चार साल के बाद, वो समझने लगते हैं और उनको याद रह जाती हैं बातें। तो उसके बाद खतरा है। एडमिन की राय इससे अलग 4 साल से 15 साल की बच्चियों की तस्वीरें, शेयर करने के पक्ष में थी। ये कोई विदेश नहीं, भारत है। सुसंस्कृत, सनातन सभ्य और महान भारत। उसमें भी भारत का सबसे पढ़ा लिखा साक्षर राज्य केरल।

इसे भी पढ़िए:   5 लड़कियों से दिल्ली में रोज़ होता है बलात्कार, दिल्ली पुलिस के आंकड़े

पुलिस ने 24 साल के एक युवक को पकड़ा है। नाम है शराफ अली। ये मोबाइल पर चैट ग्रुप का एडमिन था। उस ग्रुप्स में वाइफ स्वैपिंग की व्यवस्था से लेकर एक साल की लड़की के बलात्कार तक के वीडियो और तस्वीरे शेयर की जातीं थी। सबसे ताजा वीडियो, दो वयस्कों द्वारा, चार साल की बिलखती बच्ची से बलात्कार का था। बच्ची अम्मा अम्मा चीख रही थी। इस देश के हजारों, लाखों लोग ऐसे वीडियो से मनोरंजित हो रहे हैं। हद ये है कि तीन साल के बच्चियों को वाकायदा अश्लील पोजेज देने की ट्रेनिंग दी जाती है। वे अश्लील पोज देने के मामले में महारथी हैं। एक समाज सेवी की मदद से पुलिस ने शराफ अली को गिरफ्तार कर लिया है। पर शराफ अली तो बस सुविधाएं मुहैया कराता था। सुविधाएं भोगनेवाले कौन लोग हैं? वे कौन हैं? जिनको बच्चों का शोषण मनोरंजक लगता है? ये लोग घर परिवार, बीवी-बच्चों वाले लोग हैं। ये वही लोग हैं जिनको तीन साल की बच्ची से बलात्कार वाजिब लगता है।

इसे भी पढ़िए:   एक रात की दुल्हन से बचकर रहना, असलियत जानकर होश उड़ जाएंगे!

ये आदमखोर लोग हैं।।। जो हमारे बीच छुपे हुए हैं। इनको बच्चों का गोश्त बेहद पसंद है। जब भी कोई वाट्सअप ग्रुप बनता है। वहां पहले अश्लील जोक्स, फिर गुड नाइट गुड मॉर्निंग कहती अश्लील तस्वीरें शेयर की जाने लगतीं है। ऐसा करनेवाले लोग इसे हल्का-फुल्का मजाक स्थापित करने की कोशिश करते हैं। और बाकी के लोग चुपचाप इसका लुत्फ लेते हैं। वे ग्रुप चलने देते हैं। चलने देते हैं और उसका सुख लेते रहते हैं। धीरे धीरे ग्रुप में अश्लीलता का चरम बढ़ने लगता है। तो ऐसा केवल केरल में नहीं है। केरल के स्वंय सेवी ने जोखिम उठाकर इसका खुलासा किया पर पूरा भारत इस नरक में डूबा हुआ है। समूचा राष्ट्र इस दलदल में धंसा हुआ है।अभी कहीं पढ़ा कि भारत में इंटरनेट डाटा डाउनलोड अमेरिका और चीन के सम्मिलित डाटा डाउनलोड से भी ज्यादा हो गया है। क्या आप जानते हैं कि मुफ्त का यह डाटा 90 प्रतिशत से भी ज्यादा पोर्न मटेरियल के लिए इस्तेमाल हो रहा है? भारत के किशोर और बच्चे बर्बादी के ज्वालामुखी पर बैठे हैं।

केरल

Top