You are here
Home > अपराध > ब्लड कैंसर पीड़िता के साथ गैंगरेप: मुख्य आरोपी गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी

ब्लड कैंसर पीड़िता के साथ गैंगरेप: मुख्य आरोपी गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी

ब्लड कैंसर पीड़िता

ब्लड कैंसर पीड़िता के साथ गैंगरेप: मुख्य आरोपी गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी , सरोजनीनगर इलाके में ब्लड कैंसर का शिकार ब्लड कैंसर पीड़िता किशोरी से गैंगरेप के आरोपी मोबाइल फ्रेंड को पुलिस ने सोमवार सुबह गिरफ्तार कर लिया। उसकी निशानदेही पर निर्माणाधीन मकान की कोठरी से शराब की खाली बोतल, चादर व आपत्तिजनक वस्तुएं बरामद की हैं। हत्थे चढ़े आरोपी ने चार अन्य साथियों के नाम उगलने के साथ खुलासा किया कि शराब के जाम लड़ाने के साथ छह युवकों ने किशोरी से दरिंदगी की थी। इसके बाद चार बेटियों के पिता ने लिफ्ट देकर आबरू लूटी। चौंकाने वाले खुलासे पर पुलिस ने अन्य चार युवकों की तलाश शुरू की है। एसएसपी ने दरिंदगी के आरोपियों पर गैंगस्टर-रासुका की कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

महिला कल्याण राज्यमंत्री स्वाति सिंह ने सोमवार शाम ब्लड कैंसर पीड़िता के घर जाकर उसे ढांढस बंधाया और आरोपियों को सख्त सजा दिलाने का आश्वासन दिया। उन्होंने सरोजनीनगर पुलिस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि दो हफ्ते पहले त्रिमूर्तिनगर में रिटायर्ड स्टाफ नर्स लूसी की हत्या का अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। अब ब्लड कैंसर पीड़ित किशोरी से गैंगरेप ने इलाके में सनसनी फैला दी। अपराध पर अंकुश न लगने पर वह मुख्यमंत्री व डीजीपी से शिकायत करेंगी।

एएसपी सिटी पूर्वी सर्वेश मिश्रा ने बताया कि पुलिस टीम ने कैंसर पीड़ित किशोरी से गैंगरेप के मुख्य आरोपी शुभम यादव को दरोगा खेड़ा से गिरफ्तार किया है। गांव रहीमाबाद निवासी शुभम की निशानदेही पर भोला खेड़ा में एक निर्माणाधीन मकान की कोठरी में पुआल पर बिछी चादर, शराब की खाली बोतल, दरिंदगी में इस्तेमाल की गई आपत्तिजनक वस्तु आदि बरामद हुई। केकेवी में बीकॉम के छात्र शुभम ने अपने साथी सुमित पहाड़ी, निरंजन, वीके उर्फ बउआ और बिटोला के नाम उजागर किए।

बोला कि मिस्ड कॉल के चक्कर में ब्लड कैंसर पीड़िता से मोबाइल पर बातचीत शुरू हुई थी। उसने अपना नाम शैलेंद्र बताकर दो दिन में जाल में फंसाया और शनिवार शाम उसे चिल्लावां बाजार में मुलाकात के लिए बुलाया था। बाइक पर बैठाकर विभिन्न स्थानों की सैर कराते हुए भोला खेड़ा ले गया। वहां रहीमाबाद के रामसिंह की प्लॉटिंग हो रही है। शुभम ने कुबूला कि प्लॉटिंग पर उसके साथी बैठे जाम लड़ा रहे थे। प्रेमजाल में फंसी किशोरी को एकांत में बातचीत के बहाने कोठरी में ले गया। वहां मौजूद सुमित यादव को चाय-समोसा लेने के बहाने भेजा। किशोरी से दुष्कर्म किया। इसके बाद नशे में धुत अन्य साथी आ गए।

हत्थे चढ़े मुख्य आरोपी शुभम ने जिन चार युवकों के नाम उजागर किए हैं। उनकी तलाश की जा रही है। पड़ताल की जाएगी कि गैंगरेप में उनकी संलिप्तता थी या शुभम ने किसी अन्य वजह से उनके नाम लिए हैं। एसएसपी दीपक कुमार ने सीओ कृष्णानगर को कैंसर पीड़िता से गैंगरेप की तफ्तीश का संजीदगी से पर्यवेक्षण करके पुख्ता सुबूतों के  साथ चार्जशीट तैयार कराने और फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमे की सुनवाई कराकर आरोपियों को सख्त सजा दिलाने के लिए ठोस पैरवी के आदेश दिए हैं। इसके अलावा आरोपियों को गैंगेस्टर और रासुका में निरुद्ध कराने को कहा गया है। चौकी इंचार्ज सचिन गुप्ता का कहना है कि ब्लड कैंसर पीड़ित किशोरी की रहीमाबाद के शैलेंद्र से मोबाइल पर बातचीत होती थी। कुछ दिनों पहले शैलेंद्र का सिमकार्ड शुभम के हाथ लगा। उसने मिस्ड कॉल की और शैलेंद्र बनकर बात करने लगा।

उसने किशोरी को कॉल करके चिल्लावां बाजार बुलाया और अपना सही नाम बताने के साथ कहा कि शैलेंद्र गांव नटकुर के पास इंतजार कर रहा है। झांसे में आई किशोरी उसकी बाइक पर सवार हो गई। सवाल उठा कि शैलेंद्र  कौन है, किशोरी से उसकी दोस्ती कैसे हुई, उसका सिमकार्ड शुभम के हाथ कैसे लगा? किशोरी उसकी आवाज पहचानने में चूकी या शुभम ही शैलेंद्र बनकर बात करता था। पुलिस इस गुत्थी को सुलझाने में जुटी है। हत्थे चढ़े शुभम यादव ने चार अन्य साथियों के नाम उजागर करते हुए रविवार को गिरफ्तार सुमित यादव को बेकुसूर बताया। बोला कि सुमित यादव को उसने चार-समोसा लेने भेज दिया था। इस दौरान उसने व अन्य साथियों ने किशोरी से दरिंदगी की। वहीं, चौकी इंचार्ज का कहना है कि पीड़िता ने सुमित यादव को पहचाना था। उसके द्वारा खुद को बेकुसूर बताए जाने पर पीड़िता ने झिड़क दिया था। मौके पर उसकी मौजूदगी थी और वह आरोपी है।

इसे भी पढ़िए:   दूध के बहाने महिला को घर में बुलाया और फिर किया रेप!
Top